पशुओ में Lumpy skin disease क्या है? (लक्ष्ण और उपाय)

पशुओ में एक रोग के कारण, हमारे यहां कई पशुओं के मरने की खबर आ रही है यह एक संक्रामक रोग है यह तेजी से पशुओं में फ़ैल रहा है इसका नाम lumpy skin disease है।

Lumpy skin disease क्या है

Lumpy skin disease की 3 प्रजातियां हैं पहली केपरिपॉस वायरस है इसके अन्य गोटपॉक्स वायरस और शिपपॉक्स वायरस है इसे गांठदार रोग के नाम से भी जाना जा रहा है, अब ये रोग या बीमारी नीलगाय और पशुओ में भी बहुत तेजी से फेल रही है।

कैसे फैलता है

ये रोग फैलने क प्रमुख कारक है जैसे मक्खी ,मछर,जूं ,आदि है इन सभी की वजह से ये बीमारी या रोग हमारे पसुओ में फेल रहा है।

पसुओ के आपस में संपर्क से भी ये रोग फेल रहा है और दुसित भोजन और दुसित पानी से भी ये रोग तेजी से फेल रहा है अभी तक ज्यादा तर गायों में फेल रहा है भैंस में कम देखा गया है इससे पशू की बहुत ही खराब हालत हो जाती हैं देखि नहीं जाती है

इसके लक्षण

इसमें कई लक्ष्ण है जैसे भुखार होना वजन कम हो जाता है लार निकलने लगती है आखँ व् नाक का बहने लगती है दूध काम हो जाता है।

शरीर पर अलग अलग तरह की गांठे निकलने लगती है इससे गर्भपात गायों को भारीपन और लंगड़ापन भी हो जाता है इससे पसुओ को निमोनिया हो जाता है पसुओ के पेरो में सूजन आ जाती है पशू खड़े ही रहते है भेटते नहीं है और कई कई पशु भेट जाते है उठते नहीं है हमारी स्थानीय भासा में बोले तो बेस्सके पड़ जाती है

इसके उपाय

इस रोग का अभी तक कोई भी दवाई या इंजेक्शन नहीं है या कोई भी निश्चित उपाय भी नहीं है इस कारन से पसुओ को इस से प्रभावित छेत्रो में जाने से रोकना होगा ,घर में माखी ,मच्छर ,चींचड़ के कारण ये रोग फैलता है तो घरो में फिनाइल का छिड़काव करना चाहिए पसुओ को दूसरे पसुओ के संपर्क में आने से रोकना चाहिए।

पसुओ को दुसित चारा व् पानी का सेवन नहीं करवाना चाहिए इस रोग के कारन अभी तक गायों व् भेंसो को नुकसान हुआ है, हमे हमारी ही नहीं जो बाहर रोड पर जो पशू है उनकी भी सेवा करके रोग से बचाना है हम नीम का काड़ा साट्टाघास है, जो पशू को खिलानी चाहिए जिससे माना गया है।

Lumpy skin disease से की पशू कुछ हद तक ठीक हो जाता है जिस पशू ने घास व् चारा खाना छोड़ दिया वो पशू नहीं बच सकता ये रोग ने उस पर ज्यादा हावी हो गया है

निष्कर्ष

हांजी दोस्तों मेने आज आपको Lumpy skin disease के बारे में बताया है जो रोग पसुओ में तेजी से फेल रहा है और इससे बहुत ज्यादा पशू मर रहे है इससे पशू के शरीर पर गांठे हो जाती है और भी कई लक्षण मेने आपको बताये और इसका कोई भी उपाय या निश्चित दवाई या इंजेक्शन नहीं है।

इसका तो बस परहेज है, मेने आपको कई उपाय भी बताये है आशा करता हूँ, आपको ये Article पसन्द आया होगा और यहां तक पढ़ने के लिए आप सभी का धन्यवाद।

Leave a Comment